Sarfaroshi Ki Tamanna Hindi lyrics
Sarfaroshi Ki Tamanna Song Lyrics

Sarfaroshi Ki Tamanna(सरफरोसी की तमन्ना) Lyrics in Hindi, Lyrics pinned by Prasoon Joshi, Singer is Amir Khanand Musician A. R. Rehman and this song from Movies रंग दे बसंती

Singer(गायक) Amir Khan,
Music (संगीत) A. R. Rehman,
Lyric(गीत) Prasoon Joshi,
Movie(चित्रपट) ,,,,,,,,,, ,

Sarfaroshi Ki Tamanna Song Lyrics को Hindi में सुनने के लिए नीचे बटन पर क्लिक करें.

Sarfaroshi Ki Tamanna Lyrics in Hindi

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है

करता नहीं क्यूँ दूसरा कुछ बातचीत
देखता हूँ मैं जिसे वो चुप तेरी महफ़िल में है
ऐ शहीद-ए-मुल्क-ओ-मिल्लत
मैं तेरे ऊपर निसार
अब तेरी हिम्मत का चरचा ग़ैर की महफ़िल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

वक़्त आने दे बता देंगे तुझे ए आसमान
हम अभी से क्या बताएँ क्या हमारे दिल में है
खैंच कर लाई है सब को क़त्ल होने की उमीद
आशिकों का आज जमघट कूचा-ए-क़ातिल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

है लिए हथियार दुश्मन ताक में बैठा उधर
और हम तैयार हैं सीना लिए अपना इधर
ख़ून से खेलेंगे होली अगर वतन मुश्क़िल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

हाथ जिन में हो जुनून, कटते नहीं तलवार से
सर जो उठ जाते हैं वो झुकते नहीं ललकार से
और भड़केगा जो शोला सा हमारे दिल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

हम तो घर से निकले ही थे
बाँधकर सर पर कफ़न
जाँ हथेली पर लिए लो बढ चले हैं ये कदम
ज़िंदगी तो अपनी मेहमां मौत की महफ़िल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

यूँ खड़ा मक़्तल में क़ातिल कह रहा है बार-बार
क्या तमन्ना-ए-शहादत भी किसी के दिल में है
दिल में तूफ़ानों की टोली और नसों में इन्कलाब
होश दुश्मन के उड़ा देंगे हमें रोको न आज
दूर रह पाए जो हमसे दम कहाँ मंज़िल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

वो जिस्म भी क्या जिस्म है
जिसमे न हो ख़ून-ए-जुनून
तूफ़ान से क्या लड़े जो कश्ती-ए-साहिल में है
सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में

Lyrics of Sarfaroshi Ki Tamanna in English

sarafaroshee kee tamanna ab hamaare dil mein hai
dekhana hai zor kitana baazoo-e-qaatil mein hai

karata nahin kyoon doosara kuchh baatacheet
dekhata hoon main jise vo chup teree mahafil mein hai
ai shaheed-e-mulk-o-millat
main tere oopar nisaar
ab teree himmat ka characha gair kee mahafil mein hai
sarafaroshee kee tamanna ab hamaare dil mein hai

vaqt aane de bata denge tujhe e aasamaan
ham abhee se kya bataen kya hamaare dil mein hai
khainch kar laee hai sab ko qatl hone kee umeed
aashikon ka aaj jamaghat koocha-e-qaatil mein hai
sarafaroshee kee tamanna ab hamaare dil mein hai

hai lie hathiyaar dushman taak mein baitha udhar
aur ham taiyaar hain seena lie apana idhar
khoon se khelenge holee agar vatan mushqil mein hai
sarafaroshee kee tamanna ab hamaare dil mein hai

haath jin mein ho junoon, katate nahin talavaar se
sar jo uth jaate hain vo jhukate nahin lalakaar se
aur bhadakega jo shola sa hamaare dil mein hai
sarafaroshee kee tamanna ab hamaare dil mein hai

ham to ghar se nikale hee the
baandhakar sar par kafan
jaan hathelee par lie lo badh chale hain ye kadam
zindagee to apanee mehamaan maut kee mahafil mein hai
sarafaroshee kee tamanna ab hamaare dil mein hai

yoon khada maqtal mein qaatil kah raha hai baar-baar
kya tamanna-e-shahaadat bhee kisee ke dil mein hai
dil mein toofaanon kee tolee aur nason mein inkalaab
hosh dushman ke uda denge hamen roko na aaj
door rah pae jo hamase dam kahaan manzil mein hai
sarafaroshee kee tamanna ab hamaare dil mein hai

vo jism bhee kya jism hai
jisame na ho khoon-e-junoon
toofaan se kya lade jo kashtee-e-saahil mein hai
sarafaroshee kee tamanna ab hamaare dil mein hai
dekhana hai zor kitana baazoo-e-qaatil mein

More Songs of A R Rahman
#Maa Tujhe Salaam
#Patakha Guddi

Sarfaroshi Ki Tamanna Song Detail

  • Song: Lalkaar
  • Artist: A.R. Rahman, Aamir Khan
  • Writers: A. R. Rahman, Prasoon Joshi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here